जैविक खेती क्या है? इसके फायदे What is Organic Farming in Hindi ?

जैविक खेती क्या है? इसके फायदे What is Organic Farming in Hindi ?

जैविक खेती क्या होती है, इसके क्या क्या महत्व है और हमारे लिए किस प्रकार फायदेमंद होती है ये समस्त जानकारी आज हम इस लेख के माध्यम से जानेंगे।

जैविक खेती कृषि की एक ऐसी विधि है जिसमे संश्लेषित उर्वरकों एवं संश्लेषित कीटनाशकों का न्यूनतम प्रयोग किया जाता है तथा भूमि की उर्वरा शक्ति को बनाए रखने के लिए फसल चक्र, हरी खाद, कंपोस्ट आदि का प्रयोग किया जाता है।

जैविक खेती से मानव स्वास्थ्य का बहुत ही गहरा संबंध होता है। इस विधि से खेती करने से शरीर तुलनात्मक रूप से अधिक स्वस्थ रहता है। इससे इंसान की आयु भी बढ़ती है और आगे आने वाली पीढ़ी भी स्वस्थ रहती है।

कीटनाशक और खाद का प्रयोग करने से फसल जहरीली होती है इसका स्वास्थ्य पर बहुत बुरा प्रभाव पड़ता है इसीलिए जैविक खेती करनी चाहिए क्योंकि इससे  फसल और स्वास्थ्य खराब नहीं होता।

कंपोस्ट एक प्रकार की खाद्य जो जैविक पदार्थों के अपघटन से प्राप्त की जाती है। कंपोस्ट बनाने का सबसे सरल तरीका है इसमें जैव पदार्थों का ढेर बनाकर कुछ समय तक प्रतीक्षा करना होता है। जिससे उस का विघटन हो जाए उसके बाद वह ह्यूमरस में बदल जाता है। कंपोस्ट बनाने की आधुनिक विधि कई चरणों में पूरा होता है।

इसे भी पढ़ें -  केचुआ खाद का बिजनेस (वर्मीकम्पोस्ट बनाने का व्यापर) Vermicompost production business in Hindi

जैविक खेती से जुड़ी कुछ बातें

फसल विविधता

 बढ़ती फसल की मांग को पूरा करने के लिए विभिन्न फसलों की एक साथ खेती की जा सकती है।

मृदा प्रबंधन

  खेतों में फसलों को उगाने के बाद मिट्टी अपना पोषक तत्व खो देती है और इसकी गुणवत्ता भी कम हो जाती है जैविक कृषि मिट्टी के स्वस्थ को बढ़ाने में सहायता करता है।

खरपतवार प्रबंधन

    कार्बनिक कृषि खरपतवार को कम करने में सहायता करता है।

अन्य जीवों को नियंत्रित करना

   खेत में उपयोगी और हानिकारक जीव दोनों पाए जाते हैं जो क्षेत्र को प्रभावित भी करते हैं फसल और मिट्टी के बचाव के लिए जीवों के विकास को नियंत्रित करने की आवश्यकता होती है इसमें जड़ी बूटियों और कीटनाशकों के उपयोग से किया जाता है जिसमें बहुत कम रसायन होते हैं।

पशुधन

घरेलू जानवरों का उपयोग जैविक खेती की स्थिरता को बनाए रखने में किया जाता है।

आनुवंशिक संशोधन

    जेनेटिक संशोधन का उपयोग जैविक कृषि में नहीं किया जाता है क्योंकि कार्बनिक खेती प्राकृतिक नियमों पर आधारित होती है।

जैविक खेती के महत्व

आज के युग में जैविक खेती करने का बहुत महत्व है क्योंकि-

  • जैविक खेती करने से प्राकृतिक संसाधनों को बचाया जा सकता है।
  • जैविक खेती करने से कृषि के उत्पादन में भी टिकाऊ पन बना रहता है।
  • वातावरण को प्रदूषण मुक्त करने में भी बहुत ही महत्वपूर्ण योगदान होता है।
  • जैविक खेती मिट्टी की गुणवत्ता को बनाए रखने में भी सहायता करता है।
  • जैविक खेती को अपनाने से उत्पादन लागत  को भी कम किया जा सकता है।
  • जैविक खेती करने से मनुष्य के स्वास्थ्य पर भी कोई प्रभाव नहीं पड़ता है।
इसे भी पढ़ें -  अदरक - लहसुन के पेस्ट बनाने का व्यापार कैसे शुरू करें?

जैविक खेती करने से क्या-क्या फायदे होते हैं?

इस प्रकार के जैविक खेती करने के मुख्य कारण –

  •  जैविक खेती करने से फसलों के उत्पादन में भी वृद्धि होती है।
  • जैविक खाद के उपयोग करने से भूमि की गुणवत्ता में भी काफी सुधार रहता है।
  • रासायनिक खाद को खेतों में उपयोग करने से फसल को उगाने में लागत भी कम आता है।
  • इसके उपयोग से खेती की सिंचाई अंतराल में भी वृद्धि होती है जैविक खेती करने से भूमि के जलस्तर में वृद्धि होती है।
  • जैविक खेती में कचरे का उपयोग खाद बनाने में किया जाता है जिससे कचरे से होने वाली बीमारियों में भी कमी आती है।
  • इसमें मिट्टी, खाद्य पदार्थ और जमीन में पानी के माध्यम से होने वाले प्रदूषण में भी कमी आती है।
  • जैविक खेती करने से फसल के उत्पादन की लागत में कमी आती है एवं आय में वृद्धि होती है।
  • जमीन से पानी का वाष्पीकरण भी कम होता है।
  • जैविक खेती को अपनाने से भूमि की उपजाऊ क्षमता में वृद्धि होती है।
  • अंतर्राष्ट्रीय बाजार में जैविक उत्पादों की मांग सबसे ज्यादा रहती है।

Leave a Comment