अचार बनाने का व्यापार कैसे शुरू करें How To Start Making Pickle Business in Hindi

अचार बनाने का व्यापार कैसे शुरू करें How To Start Making Pickle Business in Hindi

अचार एक ऐसी खाने की चीज है जो भारत के हर घर में उपयोग होता है। हमारे यहाँ शादियों में, पार्टियों में, और आमतौर पर घरो में खाने के साथ अचार को खाना बहुत पसंद किया जाता है। खाने के साथ अचार, खाने को और भी ज्यादा स्वादिस्ट बना देता है।

अचार का उपयोग शहरो के साथ साथ गावों में भी बहुत ज्यादा किया जाता है। अचार भारत में बहुत ज्यादा उपयोग किया जाता है और इसको देखते हुए अचार का बिजनेस बहुत मुनाफे का सौदा हो सकता है।

अचार बनाने का व्यापार कैसे शुरू करें How To Start Making Pickle Business in Hindi

अचार का बिजनेस क्या है?

अचार के बिजनेस का तात्पर्य है कि कमाई करने की वह प्रक्रिया जिससे कोई व्यक्ति अपनी कोई अचार की कंपनी बनाकर अपने अचार को बाजार में बेचने से कमाई कर कर सकता है।  ये कोई जरुरी नहीं है कि केवल आम के अचार का ही बिजनेस किया जा सकता है।

आम के अलावा भी बहुत प्रकार के अचार होते है जिसकी मार्केट बहुत मांग होती जैसे आवला का अचार, कुछ प्रकार की सब्जियों का अचार। ये आप पर निर्भर करता है कि आप किस प्रकार के अचार का व्यापार शुरू करते है। ये एक प्रकार का लघु उद्योग है जिसे आप अपने घर से भी शुरू कर सकते है।

अचार मेकिंग बिजनेस को कैसे शुरू करें ?

अचार मेकिंग बिजनेस को शुरू करने से पहले अपने घर पर अचार बनाकर अपने आस पास के लोगो को और अपने खास लोगो को खिलाकर उनसे अपने अचार के बारे में फीडबैक ले ले। और अपने अचार के स्वाद को बढ़ने के लिए नए नए प्रयोग भी करे। जिससे लोगो को आप के अचार का स्वाद लोगो को पसंद आये।

इसे भी पढ़ें -  आलू चिप्स का बिजनेस कैसे शुरू करे? How to Start a Potato Chips Business in Hindi?

अचार मेकिंग बिजनेस के लिए आवश्यक जगह

अचार मेकिंग बिजनेस के लिए कम से कम 800 से 1000 वर्गफुट की जगह होनी चाहिए। आप चाहे तो इसको अपने घर में ही शुरू कर सकते है। अचार को बनाने, सुखाने, और पैक करने के लिए खाली जगह को जरुरत होती है। अचार को ज्यादा समय तक सुरक्षित करने के लिए जिस जगह अचार बनाये वहां साफ सफाई रखे और और अचार बनाने की विधि में भी साफ सफाई रखे।

अचार मेकिंग बिजनेस के लिए आवश्यक सामग्री

अचार के बहुत से प्रकार होते है आप को जिस भी प्रकार का अचार बनाना है उसके लिए आप अपने जरुरत के हिसाब से नीचे दिए गए सामग्री का इस्तेमाल कर सकते है:

ताजे फल और सब्जियों में – आम, गाजर, मूली, मिर्च, निम्बू, लहसुन, कटहल, अदरख, करेला आदि फल और सब्जियां।

इसके साथ साथ सरसों का तेल, मसाले, सिरका, वेजिटेबल कटर सब्जिओं को काटने के लिए, अचार को रखने के लिए बर्तन और डिब्बे अचार को पैक करने के लिए।

अचार बनाने की विधि

अचार बनाने के बिजनेस में सबसे जरुरी है अचार बनाने की विधि। अगर आप के अचार बनाने के विधि अच्छी हो और उसका स्वाद अच्छा हो तो अचार का बिजनेस बहुत ज्यादा ही फेमस हो सकता है। अचार बनाने की बहुत सी विधियाँ है जिसमे कुछ एस प्रकार की है:

कुछ अचार को सादे तरीके से बनाये जाते है, और कुछ को मसालों में बनाया जाता है जैसे आम, मूली,  मिर्च गाजर के अचार में हल्दी, नमक और भी कई प्रकार के मसालों को साल कर एक सप्ताह तक धुप में सुखाते है और फिर उसमे तेल डाल कर कुछ दिन बाद खा सकते है।

इसे भी पढ़ें -  मासलों का व्यापार कैसे शुरू करें How to start spices making business in Hindi

आम के अचार में सबसे पहले ताजे आम को काट लेते है, फिर उसमे हल्दी, नमक, राय, मिर्च, सरसों को पीस कर तेल में मिक्स कर लेते है। इसके बाद ताजे कटे हुए आम में मसालों को को भरते है और उसको धुप में डाल देते है।

20 से 25 तक इसको धुप में सुखाते है और फिर इसको डिब्बे में भर देते है। और ऊपर से सरसों का तेल डाल कर लगभग 1 महीने तक इसको रख देते है। 1 महीने के बाद ये अचार खाने के लिए तैयार हो जायेगा।

नीबू का अचार सभी अचारो में सबसे आसन होता है। सबसे पहले निम्बू को घिस कर सुखा लेते है और फिर नमक मिलकर फिर से कुछ दिनों के लिए धुप में सुखाते है। कुछ लोगो का मानना है कि निम्बू का अचार जितना पुराना होता है उतना ही स्वादिस्ट होता है।

अपने अचार को कहाँ बेच सकते है

आप को अपने अचार को बेचने के लिए पहले तो उसका प्रचार करना होगा। अपने अचार को अपने आस पास के मार्केटिंग में उसका सैम्पल टेस्ट करने के लिए बाजार में भेजे। जिनको आप का अचार पसंद आयेगा वो आर्डर देने जरुर आयेंगे। इसके साथ साथ अपने अआस पास के होटल, रेस्टोरेंट, जेनरल स्टेर, कॉलेज कैंटीन, आदि कई जगहों पर अपने अचार को बेंच सकते है।

अचार के बिजनेस में लागत कितना आता है?

अचार बनाने के बिजनेस को शुरू करने के लिए कम से कम 40 से 50 रुपये की लागत लगेगी। जिसमे फल और सब्जियां, तेल, मसाले , कुछ बड़े बर्तन, और कुछ मशीनों को खरीदना पड़ता है। इसके साथ साथ रोज नौकरों को मेहनताना देना होता है।

इसे भी पढ़ें -  मधुमक्खी पालन उद्योग के फायदे Honey Farming Business in Hindi

मुनाफा कितन होता है ?

40 से 50 हजार रुपये की लागत पर अचार के इस बिजनेस से इसका 40% तक का लाभ या उससे ज्यादा भी लाभ हो सकता है। इसका मतलब लगभग 15 से 20 हजार का मुनाफा हो सकता है।ये आप की मार्केटिंग पर निर्भर करता है।

अचार के प्रकार

अचार के बहुत से प्रकार होते है लेकिन ज्यादातर लोगो को केवल आम और निम्बू का अचार ही बनाना आता है। कुछ अचार के प्रकार इस प्रकार है: आवला अचार,  मिश्रित अचार,  गाजर का अचार,  नारियल अचार,  लहसुन का अचार,  हरी मिर्च का अचार,  कटहल का अचार,  कच्चे आम का अचार, खट्टा मीठा नींबू का अचार, इमली का अचार आदि।

अचार के बिजनेस के लिए लाइसेंस

अचार बिजनेस के लिए FASSI द्वारा लाइसेंस की आवश्यकता पड़ती है। FASSI आप के प्रोडक्ट की जाँच करने के बाद आप को लाइसेंस देती है। इसके लाइसेंस के लिए ऑनलाइन आवेदन कर सकते है। ये लाइसेंस बनने की प्रक्रिया में लगभग दो महीने का समय लगता है।

Leave a Comment