आलू चिप्स का बिजनेस कैसे शुरू करे? How to Start a Potato Chips Business in Hindi?

आलू चिप्स का बिजनेस कैसे शुरू करे? How to Start a Potato Chips Business in Hindi?

भारत में चिप्स का व्यापार बहुत अधिक चर्चित हो गया है। आलू की चिप्स खाना सभी को पसंद होता है। यह आराम से बिक जाती है। लेस, अंकल चिप्स, हल्दीराम चिप्स जैसे बहुत से मशहूर ब्रांड आजकल बाजार में उपलब्ध है।

यह बहुत से फ्लेवर में उपलब्ध हैं। इनकी बिक्री भी आसानी से हो जाती है। सुबह शाम नाश्ते के रूप में कभी भी चिप्स खा सकते हैं। घर पर यह बिजनेस शुरू करके आप भी मुनाफा कमा सकते हैं।

आलू चिप्स का बिजनेस कैसे शुरू करे? How to Start a Potato Chips Business in Hindi?

बिजनेस शुरू करने के लिए आवश्यक पूंजी

यह बिजनेस शुरू करने के लिए आपको 2 से 3 लाख की पूंजी लगानी होगी।  आवश्यक मशीने, बर्तन और औजार खरीदने होंगे। निम्न मशीने और बर्तन आपको खरीदने होंगे-

  • Potato slicing machine
  • Dewatering machine
  • Batch fryer
  • Spice coating machine
  • Sealing machine with inert gas Processing Unit
  • Stainless steel working tools
  • Waiting skills dispenser fillers
  • Plastic tray
  • Equipments for lab

FSSAI से लाइसेंस लेना जरूरी है

चिप्स का उद्योग खाद्य सामग्री के अंतर्गत आता है इसलिए आपको FSSAI से लाइसेंस लेना आवश्यक है। सभी खाने पीने की चीजों के लिए यह लाइसेंस होना चाहिए। आपको अपनी कंपनी के नाम से बैंक में करंट अकाउंट खोलना होगा। इसके लिए आप के पास आधार कार्ड होना चाहिए। इसके अलावा VAT और GST के लिए भी रजिस्ट्रेशन करवाना होगा।

इसे भी पढ़ें -  पापड़ का व्यापार कैसे शुरू करे How to Start Papad Business in Hindi

चिप्स बनाने के लिए कच्चा माल

कच्चे माल के रूप में आलू का प्रयोग किया जाता है। बाजार में आलू का खुदरा मूल्य 10 से 12 रूपये है। आलू का कोई निश्चित भाव नहीं होता। कभी-कभी यह बहुत सस्ता हो जाता है और कभी कभी 15 से 18 रूपये  किलो तक भी इसकी कीमत बढ़ जाती है।  

परंतु जब आप इसे कुंटल के हिसाब से खरीदेंगे तो यह सस्ता पड़ेगा। आलू डीलर या सप्लायर से सम्पर्क करना होगा। चिप्स बनाने के लिए आपको रिफाइन तेल की आवश्यकता होगी जो कि 100-120 रूपये लीटर के हिसाब से बाजार में मिलता है। 15 किलो के टीन के डिब्बो में खरीदने पर यह सस्ता पड़ेगा।  

चिप्स बनाने की विधि

चिप्स बनाने के लिए बड़े और अच्छी क्वालिटी के आलू का प्रयोग किया जाता है। सबसे पहले कटाई का काम होता है, जिसमें सड़े गले आलू को बाहर कर दिया जाता है। सिर्फ अच्छे आलू ही रखे जाते हैं।

आलू धोने के बाद उनको छीलने वाली मशीन में डाल दिया जाता है जो आलू के छिलके निकाल देती है। इसके बाद पोटैटो स्लाइसर मशीन (potato slicing machine) में डालकर आलू को पतले पतले चिप्स में काट लिया जाता है।

इसे भी पढ़ें -  फूल उत्पादन व्यापार Flower Production Business Benefits in Hindi

चिप्स की मोटाई 1 से 1.5 मिलीमीटर होनी चाहिए। कटे हुए चिप्स के टुकड़ों को गरम पानी में ब्लांच किया जाता है। Dewatering machine के द्वारा चिप्स का सारा पानी सुखा दिया जाता है। उसके बाद बैच फ्रायर (Batch fryer) में डालकर चिप्स को फ्राई करते हैं।

180 डिग्री सेल्सियस के तापमान पर 2 मिनट के लिए चिप्स को फ्राई किया जाता है। उसके बाद निकाल कर इन पर भुने हुए मसालों की कोटिंग की जाती है। चिप्स को मसाला कोटिंग मशीन में डालते हैं। वह सभी चिप्स पर अच्छी तरह मसाला लगा देती है। फिर चिप्स को 25, 50 और 100 ग्राम के पैक में पैक कर दिया जाता है।

चिप्स की पैकेजिंग कैसे करें

आजकल बाजार में बहुत कंपटीशन है। आलू के चिप्स की पैकेजिंग बहुत ही आकर्षक होती है। साथ ही उस पर डिस्काउंट भी लिखा रहता है। इसी तरह आप भी अपने प्रोडक्ट की पैकेजिंग बहुत आकर्षक रूप में करनी चाहिये। उस पर छूट भी दिखाइए।

चिप्स की मार्केटिंग कैसे करें

चिप्स के पैकेट्स आप होलसेल दुकानों पर बेच सकते हैं। इसके अलावा रिटेल शॉप्स पर भी सप्लाई कर सकते हैं। जहां पर आपने अपनी फैक्ट्री लगा रखी है उसके बाहर भी रिटेल शॉप खोलकर चिप्स बेच सकते हैं। ऑनलाइन मार्केटिंग का विकल्प भी बहुत अच्छा है। आपको एक वेबसाइट बनानी होगी और उस पर ही आप अपने प्रोडक्ट बेच सकते हैं।

इसे भी पढ़ें -  आइसक्रीम बनाने का व्यापार कैसे शुरू करें How to Start Ice Cream Making Business in Hindi

इसके अलावा amazon.com और alibaba.com पर भी आप अपना प्रोडक्ट बेच सकते हैं। सोशल मीडिया पर पेज बनाकर आप अपने बिजनेस का प्रचार प्रसार कर सकते हैं। चिप्स की मार्केटिंग करने के लिए आप उस स्थान के अखबार के लोकल पन्ने पर विज्ञापन भी दे सकते हैं। बड़ी कंपनियों से ऑर्डर लेकर उनके लिए भी चिप्स बनाने का काम कर सकते हैं।

चिप्स के बिजनेस में आमदनी

यदि छोटे पैमाने पर आप यह बिजनेस करते हैं तो 10 से 15000 महीना कमा सकते हैं। यदि आप बड़े पैमाने पर सभी मशीनें खरीदकर यह बिजनेस करते हैं तो आपको 30 से 40 हजार  रूपये हर महीना कमा सकता है पर इसके लिए आपको 3 से 4 लाख रूपये की पूंजी लगानी होगी।

Leave a Comment